Skip to content

Humne to but khat likhe || sad shayari

Humne to bhut khat likhe magar tumhara ek bhi jawab nahi aaya,
Jawab aaya nahi tumhara koi gam nhi magar tumhe hmara ek baar bhi khayal nhi aaya,
Aate jate tume dhoondte the hum, har waqt is fikr mein rehte the hum,
Kyu tum itne matlabi ho gye ke apno ka Zara sa bhi khayal nhi aaya,
Uchayian choone ki chah ne tume itna magroor kar diya ke fir bhi tumhari zuban pe hmara naam nhi aaya,
Humne to bhut khat likhe magar tumara ek bhi jawab nhi aaya💔

हमने तो बहुत खत लिखे मगर तुम्हारा एक भी जवाब नहीं आया,
जवाब आया नहीं तुम्हारा कोई ग़म नहीं मगर तुम्हे हमारा एक बार भी ख्याल नहीं आया,
आते जाते तुम्हे ढूँढ़ते थे हम, हर वक़्त इस फिक्र मैं रहते थे हम,
क्यों तुम इतने मतलबी हो गए कि अपनों का ज़रा सा भी ख्याल नहीं आया,
ऊँचाईआं छूने की चाह ने तुम्हे इतना मगरूर कर दिया कि फिर कभी तुम्हारी जुबां पर हमारा नाम नहीं आया,
हमने तो बहुत खत लिखे मगर तुम्हारा एक भी जवाब नहीं आया!!💔

Title: Humne to but khat likhe || sad shayari

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


Mother son poetry hindi || Maa shayari

कोई भी जहर को मीठा नहीं बताता है।
कल अपने आप को देखा था माँ की आँखों में
ये आईना हमे बूढ़ा नहीं बताता है।
ए अँधेरे देख ले मुँह तेरा काला हो गया
माँ ने आँखे खोल दी घर में उजाला हो गया।
किस तरह वो मेरे गुनाहो को धो देती है
माँ बहुत गुस्से में होती है तो रो देती है।
बुलंदियों का बड़े से बड़ा नीसान छुआ
उठाया गोद में माँ ने तब आसमान छुआ।
किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकां आयी
मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में माँ आयी।

Title: Mother son poetry hindi || Maa shayari


Mainu likhna tu sikha gya, || shayari sad

Mainu likhna tu sikha gya,
Jazbaat bhi chouli paagya,
Deke zakham mainu tu ishqaan de,
Bewafa da naam kmaa gya…!!

Title: Mainu likhna tu sikha gya, || shayari sad