Suneelata

एक शायर,जो है क्या??? चलता फिरता स्क्रू ड्राइवर!!! दिल के अल्फाज़ों को दुनिया तक पहुंचाकर सुनानी अपनी कहानी है!!! मास्टरजी की मार खाकर, हमने सीखी अच्छी कमाई है!!!

Zaroori bhi hai || hindi shayari

Kahani dil ki hai,
Lekin batana zroori bhi hai
Dil mein gumnam c khwahishein bhi hai
Jise poora karna zroori bhi hai
Kuch samaj nahi aa Raha hai,
Rasta kidhar hai..Jana idhar bhi hai jana udhar bhi hai
Kisse kismat ke hain
Rishte pyar ke hain
Par nibhana zaroori bhi hai
Vo shakhs apna bhi hai or praya bhi
Use aajmana zaroori bhi hai
Is dard e dil ko samjhana zaroori bhi hai
Kahani dil ki hai,
Lekin batana zroori bhi hai……

कहानी दिल की हैं;
लेकिन बताना ज़रूरी भी हैं!
दिल में गुमनाम सी ख़्वाहिशें भी हैं;
जिसे पूरा करना ज़रूरी भी हैं!
कुछ समझ नहीं आ रहा हैं;
रास्ता किधर हैं; जाना इधर भी हैं और जाना उधर भी हैं!
किससे क़िस्मत के हैं;
रिश्ते प्यार के हैं;
पर निभाना ज़रूरी भी हैं!
वो शख़्स अपना भी हैं और पराया भी;
उसे आज़माना ज़रूरी भी हैं!
इस दर्द ए दिल को समझाना ज़रूरी भी हैं!
कहानी दिल की हैं;
लेकिन बताना ज़रूरी भी हैं…….

Koi yaha apna nhi || hindi shayari

Chalte chalte nikal gye hum aaj purani raho par
Kya pta fir mauka na mile vapis aane ka in raaho par
Aaj dil ne thaan liya chal samet le in yaadon ko
Jo gum ho chuki thi kisi kinare par
Sikhi bas ek baat mene yaha aane se
Koi apna nhi Aaj k zamane mein..

चलते-चलते निकल गए हम आज पुरानी राहों पर
क्या पता फिर मौका न मिले वापिस आने का इन राहों पर!!
आज दिल ने ठान लिया चल समेट ले इन यादों को
जो गुम हो चुकी थी किसी किनारे पर!!!
सीखी बस एक बात मैंने यहाँ आने से
कोई अपना नहीं आज के ज़माने मे!

Humne to but khat likhe || sad shayari

Humne to bhut khat likhe magar tumhara ek bhi jawab nahi aaya,
Jawab aaya nahi tumhara koi gam nhi magar tumhe hmara ek baar bhi khayal nhi aaya,
Aate jate tume dhoondte the hum, har waqt is fikr mein rehte the hum,
Kyu tum itne matlabi ho gye ke apno ka Zara sa bhi khayal nhi aaya,
Uchayian choone ki chah ne tume itna magroor kar diya ke fir bhi tumhari zuban pe hmara naam nhi aaya,
Humne to bhut khat likhe magar tumara ek bhi jawab nhi aaya💔

हमने तो बहुत खत लिखे मगर तुम्हारा एक भी जवाब नहीं आया,
जवाब आया नहीं तुम्हारा कोई ग़म नहीं मगर तुम्हे हमारा एक बार भी ख्याल नहीं आया,
आते जाते तुम्हे ढूँढ़ते थे हम, हर वक़्त इस फिक्र मैं रहते थे हम,
क्यों तुम इतने मतलबी हो गए कि अपनों का ज़रा सा भी ख्याल नहीं आया,
ऊँचाईआं छूने की चाह ने तुम्हे इतना मगरूर कर दिया कि फिर कभी तुम्हारी जुबां पर हमारा नाम नहीं आया,
हमने तो बहुत खत लिखे मगर तुम्हारा एक भी जवाब नहीं आया!!💔

Tere pass || love Hindi shayari

Teri nigah ne esa khicha mujhe ke mere hosh udh gye,
Har dhaage mein hum sapno ke moti pirote chle gye,
Umeed jiski na ki thi kuch esa kaam kar gye,
Kashmakash ke smamdar mein bs dubkiyan lgate chle gye,
Jana tha kahin or lekin fir bhi tere pass aate chle gye!!!🙈

तेरी निगाह ने ऐसा खींचा मुझे कि मेरे होश उड़ गए,
हर दागे में हम सपनो के मोती पिरोते चले गए,
उम्मीद जिसकी न की थी कुछ ऐसा काम कर गए,
कश्मकश के समन्दर में बस डुबकियां लगाते चले गए,
जाना था कहीं और लेकिन फिर भी तेरे पास आते चले गए!!!🙈

Ek aasha || hindi poetry || kavita

      एक आशा 

एक आशा की चाह है मुझे आजकल
एक आशा की चाह है मुझे आजकल
क्यों अब तरस रही हैं आंखें मेरी आजकल!!
गया वो ज़माना जब खुद पर हम इतराते थे होकर बे फ़िक्र
गया वो ज़माना जब खुद पर हम इतराते थे होकर बे फ़िक्र
नज़र मैं आते थे हम सबकी जैसे हो एक खिली दोपहर!!
अचानक ये क्या हुआ क्यों लग गयी हमें किसी की नज़र
ग़र्दिशों का अब तो एक मेला हैं जिसमे मुझे चलना अकेला हैं!!
खामोशियाँ अब इतनी बढ़ रही हैं आजकल
कुछ नया पाने की चाह हो रही है मुझे आजकल
वो हंसना हम बूल क्यों गए आजकल
एक ठहराव सा आ गया है ज़िन्दगी मैं आजकल
बस एक आशा की चाह हे मुझे आजकल!!

Sunee@zindagiterenaam.com

Paise kaa dabdbaa hai sab jaga 

 पैसे का दबदबा हैं सब जगह
क्यों पैसे का दबदबा है सब जगह!
काँटों मैं फूलों की खुशबू क्यों सुंगाता है पैसा
पैसा न हो तो परेशानी पैसा हो तो ऊपर वाले की मेहरबानी!!
सब के होश क्यों उड़ाता हैं पैसा
हर ग़म की दवा क्यों बन जाता है ये पैसा!!
न हो तो क्यों इतना तड़पाता है ये पैसा
ये पैसा क्यों हमेशा से है ऐसा!

sunee@zindagiterenaam.com

Mohobat || pagal love shayari

कभी कभी ऐसा क्यों लगे
कि हम पागल होने लगे!!
किसी के मासूम चेहरे पर हम यूँही मर मिटने लगे
खुद अपना न समझ के हम उनका होने लगे!
दिल की गहराईयों से हम उन्हें चाहने लगे
आजकल हम ऐसी गलतियां क्यों करने लगे!
शायद इसी का नाम मोहब्बत है, शायद इसी का नाम मोहब्बत है,
जिसकी वजह से हम पागल होने लगे!!!

sunee@zindagiterenaam.com

Tumhara Kaam || hindi shayari

नहीं करना था मुझे तुम्हारा कोई काम
फिर भी क्यों ले लिया तुमने मेरा नाम!
भेजकर उसके हाथ में मेरे नाम का पैगाम,
भेजकर उसके हाथ में मेरे नाम का पैगाम
सबकी नज़रों में कर दिया मुझे बदनाम!
सामने रख दी मेरे वो पुरानी यादों की चट्टान
नहीं करना था मुझे तुम्हारा कोई काम!!!

sunee@zindagiterenaam.com

Suneelata

एक शायर,जो है क्या??? चलता फिरता स्क्रू ड्राइवर!!! दिल के अल्फाज़ों को दुनिया तक पहुंचाकर सुनानी अपनी कहानी है!!! मास्टरजी की मार खाकर, हमने सीखी अच्छी कमाई है!!!