Suneelata

"🙏One Soul Spreading Happiness🙏"

Ek aasha || hindi poetry || kavita

  • Uncategorized
  • by

      एक आशा 

एक आशा की चाह है मुझे आजकल
एक आशा की चाह है मुझे आजकल
क्यों अब तरस रही हैं आंखें मेरी आजकल!!
गया वो ज़माना जब खुद पर हम इतराते थे होकर बे फ़िक्र
गया वो ज़माना जब खुद पर हम इतराते थे होकर बे फ़िक्र
नज़र मैं आते थे हम सबकी जैसे हो एक खिली दोपहर!!
अचानक ये क्या हुआ क्यों लग गयी हमें किसी की नज़र
ग़र्दिशों का अब तो एक मेला हैं जिसमे मुझे चलना अकेला हैं!!
खामोशियाँ अब इतनी बढ़ रही हैं आजकल
कुछ नया पाने की चाह हो रही है मुझे आजकल
वो हंसना हम बूल क्यों गए आजकल
एक ठहराव सा आ गया है ज़िन्दगी मैं आजकल
बस एक आशा की चाह हे मुझे आजकल!!

Sunee@zindagiterenaam.com

Paise kaa dabdbaa hai sab jaga 

  • Uncategorized
  • by

 पैसे का दबदबा हैं सब जगह
क्यों पैसे का दबदबा है सब जगह!
काँटों मैं फूलों की खुशबू क्यों सुंगाता है पैसा
पैसा न हो तो परेशानी पैसा हो तो ऊपर वाले की मेहरबानी!!
सब के होश क्यों उड़ाता हैं पैसा
हर ग़म की दवा क्यों बन जाता है ये पैसा!!
न हो तो क्यों इतना तड़पाता है ये पैसा
ये पैसा क्यों हमेशा से है ऐसा!

sunee@zindagiterenaam.com

Mohobat || pagal love shayari

  • Uncategorized
  • by

कभी कभी ऐसा क्यों लगे
कि हम पागल होने लगे!!
किसी के मासूम चेहरे पर हम यूँही मर मिटने लगे
खुद अपना न समझ के हम उनका होने लगे!
दिल की गहराईयों से हम उन्हें चाहने लगे
आजकल हम ऐसी गलतियां क्यों करने लगे!
शायद इसी का नाम मोहब्बत है, शायद इसी का नाम मोहब्बत है,
जिसकी वजह से हम पागल होने लगे!!!

sunee@zindagiterenaam.com

Tumhara Kaam || hindi shayari

  • Uncategorized
  • by

नहीं करना था मुझे तुम्हारा कोई काम
फिर भी क्यों ले लिया तुमने मेरा नाम!
भेजकर उसके हाथ में मेरे नाम का पैगाम,
भेजकर उसके हाथ में मेरे नाम का पैगाम
सबकी नज़रों में कर दिया मुझे बदनाम!
सामने रख दी मेरे वो पुरानी यादों की चट्टान
नहीं करना था मुझे तुम्हारा कोई काम!!!

sunee@zindagiterenaam.com

Paison ki zaroorat bhi hai mujhe || shayari hindi || poetry

  • Uncategorized
  • by

पैसों की ज़रुरत भी है मुझे, और है नहीं भी मुझे
कम् हो रही कमाई मेरी,क्यों अन्दर ही अन्दर खा रही हैं मुझे, और नहीं भी मुझे,
मगर साथ ही साथ ऐसा कुछ समझा भी रही हैं मुझे!!
फालतू के खर्चों का भोज जो दिल पर डोल रखा हैं उसका एहसास भी करा रही है मुझे, पैसों की ज़रुरत भी है मुझे, और है नहीं भी मुझे
किस्से कहानियों में किसी दानव का नाम सुना था मैंने,
मगर २०२०-२०२१ में इसका एहसास दिला रही हैं मुझे
पैसों की ज़रुरत भी है मुझे, और है नहीं भी मुझे!!!

Ab toh jaan de mujhe || dard hai shayari

  • Uncategorized
  • by

हुन्न अब तो सोन दे मुझे
रुठते हुए तारियाँ नू मनोन दे मुझे,
सर्दी व्हिच गरमी दियां एहसास करोन दे मुझे!!
मैं गिर पड़ा हूँ, वक़्त रहते संभल जोन दे मुझे
मेरी मैयत पर आजा, नहीं ते ख़तम होण दे मुझे
हुन्न अब तो जान दे मुझे!!!

Sunee#zindagiterenaam.com

Haa maa haa || Maa shayari || love

  • Uncategorized
  • by

माँ, हाँ माँ हाँ, मुझे तू चाहिए
ग़म के धरियां में खोया हूँ
तेरा सहारा चाहिए!!
सब ने मुझे ठुकरा दिया हैं
मगर मुझे तू चाहिए!!
तन्हाई ने मुझे डस लिया है
मगर मुझे तू चाहिए!!
वो प्यार, वो एहसास चाहिए
वो प्यार बरी निगाह और वो, तेरे काँधे का सहारा चाहिए!!
ज़िन्दगी तो चल रही है, मगर एक कमी सी हैं,जो दिल में खल्ल रही है
आजा मेरी माँ आजा, क्यों मुझसे तू इतना दूर जा रही है!!!
बहुत याद आती हैं तेरी, बहुत याद आती हैं तेरी, माँ
मरने का जी करता है मेरा, कई बार मरने का जी करता है मेरा
पर हर बार की तरह, क्यों तुम मेरे सिरहाने आ जाती हो माँ
तेरे पास आना है मुझे, बहुत जल्द तेरे पास आना है मुझे,
तुमसे इतनी दूर नहीं अभ जाना है मुझे!!
तुमसे इतनी दूर नहीं अभ जाना है मुझे!!!

Sunee#zindagiterenaam.com

Dard bhari aah || gam and sad love shayari

  • Uncategorized
  • by

बहती हुई मेरी ये ज़िंदगानी है
कैसे कर दू तुझे कुबूल
बस तेरी मेहरबानी है!!
मोहब्बत तो करते है सभी
मगर हाल ही में ख़तम हुई मेरी एक कहानी है!!
कहानी के किरदार मैं मैंने किसी को खोया है
दर्द भरे इस दिल से मैंने तड़प तड़प के रोया है!!
ग़म के दरिया मैं मैंने गोते भी लगाए हैं
ऐ दोस्त खूब है तू, तुमने मुझे भी जागते हुए सपने दिखाए है!!!

Sunee#zindagiterenaam.com

Suneelata

"🙏One Soul Spreading Happiness🙏"