Skip to content

थोड़ा थक सा जाता हूं अब मै || Hindi poetry

“थोड़ा थक सा जाता हूं अब मै…
इसलिए, दूर निकलना छोड़ दिया है,
पर ऐसा भी नही हैं कि अब…
मैंने चलना ही छोड़ दिया है।

फासलें अक्सर रिश्तों में…
अजीब सी दूरियां बढ़ा देते हैं,
पर ऐसा भी नही हैं कि अब मैंने..
अपनों से मिलना ही छोड़ दिया है।

हाँ जरा सा अकेला महसूस करता हूँ…
खुद को अपनों की ही भीड़ में,
पर ऐसा भी नहीं है कि अब मैंने…
अपनापन ही छोड़ दिया है।

याद तो करता हूँ मैं सभी को…
और परवाह भी करता हूँ सब की,
पर कितनी करता हूँ…
बस, बताना छोड़ दिया है।।”

Title: थोड़ा थक सा जाता हूं अब मै || Hindi poetry

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


Oh Har pal tere naal hai || True lines || Punjabi shayari

Sad Punjabi shayari || Ohne sath tera kade shaddna nhi
Bhawein kore kaagaj te likh lai tu..!!
Oh har pal tere naal hai
Dila khush rehna sikh lai tu..!!
Ohne sath tera kade shaddna nhi
Bhawein kore kaagaj te likh lai tu..!!
Oh har pal tere naal hai
Dila khush rehna sikh lai tu..!!

Title: Oh Har pal tere naal hai || True lines || Punjabi shayari


SAANJH

Jive ambraan naal parinde di rehndi e saanjh aida e sade dil di tere naal sanjh

Jive ambraan naal parinde di rehndi e saanjh
aida e sade dil di tere naal sanjh