मेरे आंसुओ का मुकाबला || hindi shayari dard

मेरे प्यार की तपिश के आगे यह सूरज भी ठंडा है,

मेरे आंसुओ का मुकाबला यह बरसात क्या करेगी ।

तुझे पाने की चाहत में, हम सब कुछ खोते चले गए,

मगर फिर भी ऐ मेरे हमनशी, तुम दुर होते चले गए,

अब इससे ज्यादा मेरे हाल को बेहाल क्या करेगी,

मेरे प्यार की तपिश के आगे यह सूरज भी ठंडा है,

मेरे आंसुओ का मुकाबला यह बरसात क्या करेगी ।

मिल गया था मैं तुझे बिन मांगे, तुम कदर भी मेरी क्या करते ,

तुम रूठते हम मना लेते, मगर बदल ही गए हम क्या करते,

मैं लेटू नींद ना आये मुझे,  तु भी रात को तारे गिना करेगी,

मेरे प्यार की तपिश के आगे यह सूरज भी ठंडा है,

मेरे आंसुओ का मुकाबला यह बरसात क्या करेगी ।

मैने खूद को ना ऐसे चाहा कभी,  जैसे तुझको चाहते चले गए,

मैने देखा खुद को खोते हुए, बस तेरे होते चले गए,

मैंं इतना दूर चला जाऊं, तु घूट घूट आंहे भरा करेगी,

मेरे प्यार की तपिश के आगे यह सूरज भी ठंडा है,

मेरे आंसुओ का मुकाबला यह बरसात क्या करेगी ।

मैने खुदा से ऐसे मांगा उसे, मैं जीता,  किस्मत हार गई,

यह “रमन” की महोब्बत की कविता थी, कोई जिस्मो का व्यापार नहीं,

तेरे पीछे खुद को फ़ना कर दू, मेरे गीत भी दुनिया गाया करेगी,

मेरे प्यार की तपिश के आगे यह सूरज भी ठंडा है,

मेरे आंसुओ का मुकाबला यह बरसात क्या करेगी ।

Rami_

Title: मेरे आंसुओ का मुकाबला || hindi shayari dard

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


Tu mera mein teri || love punjabi shayari

Love punjabi shayari || Teri zindagi meri e
Mera jahan tera..!!
Mein sirf teri haan
Te tu sirf mera..!!
Teri zindagi meri e
Mera jahan tera..!!
Mein sirf teri haan
Te tu sirf mera..!!

Title: Tu mera mein teri || love punjabi shayari


Paison ki zaroorat bhi hai mujhe || shayari hindi || poetry

पैसों की ज़रुरत भी है मुझे, और है नहीं भी मुझे
कम् हो रही कमाई मेरी,क्यों अन्दर ही अन्दर खा रही हैं मुझे, और नहीं भी मुझे,
मगर साथ ही साथ ऐसा कुछ समझा भी रही हैं मुझे!!
फालतू के खर्चों का भोज जो दिल पर डोल रखा हैं उसका एहसास भी करा रही है मुझे, पैसों की ज़रुरत भी है मुझे, और है नहीं भी मुझे
किस्से कहानियों में किसी दानव का नाम सुना था मैंने,
मगर २०२०-२०२१ में इसका एहसास दिला रही हैं मुझे
पैसों की ज़रुरत भी है मुझे, और है नहीं भी मुझे!!!

Title: Paison ki zaroorat bhi hai mujhe || shayari hindi || poetry