Skip to content

Badhte raho || मंज़िल की ओर…|| hindi poetry

सफर जारी है मंज़िल को पाने की।
जंग से लड़ना ही रीत है जहां की।।
बैठे रहने से कुछ भी नसीब नहीं ।
नसीब के भरोसे अकर्मण्यों ने ज़िन्दगी जियी।।

कर पूजन कर्म का तू।
मन में रख कर हौंसला । ।
हौंसला यदि हो बुलन्द।
तय होगा हर फासला।।
ज़िन्दगी समय से है , समय ही ज़िन्दगी ।
यूं न जाने दो समय को , नहीं मिलेगी कोई ख़ुशी।।
कर हर काम समय पर , ज़िन्दगी तुम्हे आसमान पर ला देगी ।
सफलता की सीढिया कदमों पर झुका देगी।।
लड़ो ज़िन्दगी की हर एक जंग से ।
न हारो वक़्त रूपी तुरंग से।।
पल पल अनमोल है ज़िन्दगी की ।
केवल परिश्रम हो तो मिलेगी हर ख़ुशी।।
मंज़िल को पाना आसान नहीं ।
पर मंज़िल को ही छोड़ देना हल नहीं । ।
पार कर राहों के कांटो को ।
बढ़ते रहो मंज़िल की ओर।।

Title: Badhte raho || मंज़िल की ओर…|| hindi poetry

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


Chakna choor huaa me || heart broken shayari hindi

चकना-चूर हुआ मैं ,तूने ही तो आके समेटा था मुझे 

सबके बीच डूब रहा था सिर्फ तूने ही तो देखा था मुझसे ,

यादों मे बसर होके जब खुद को मर रहा था 

एक तू ही तो थी जिसने रोका था मुझे । 

Title: Chakna choor huaa me || heart broken shayari hindi


Oh kade samjh nahi paye || sad Punjabi status || shayari images

Sad Punjabi shayari/Punjabi status/shayari images/dard shayari/Dunghe ehsas dil de oh kade samjh hi nhi paye
Jinna piche asi nind chain sab gwa bethe..!!
Dunghe ehsas dil de oh kade samjh hi nhi paye
Jinna piche asi nind chain sab gwa bethe..!!

Title: Oh kade samjh nahi paye || sad Punjabi status || shayari images