Skip to content

PicsArt_02-25-05.29.13

  • by

Title: PicsArt_02-25-05.29.13

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


Aaj kal pata nahi kyu laghta

 Aaj kal pata nahi kyu laghta nahi sukoon jaisa, laghta hai ki sabka soch ke hi tune tera din banaya hai aisa, koi tujhe samjhta nahi ye baat tu maan ke chalna, koi tujhe chahiye nahi ye baat tu thaan ke chalna

Kyuki

Tere liye tu jo hai tere liye dujhe kon? Tera hai ye safar ispe nahi hai kisi ko haq, tu kaisi hai, who can judge? Tera dil bole tujhko, tera hai ek lamba safar, tujhe rukna nahi itni jald, aage hai kaafi kuch tere liye, bas tu sabr rakh.

Title: Aaj kal pata nahi kyu laghta


Jab sath ho tum || hindi poetry || love poetry

मुझे तालाश नहीं कोई मंजिल की
जब राहो में मेरे साथ हो तुम।

मुझे नहीं चाहिए दौलत सूरत
मेरी इक बस अरमान हो तुम।

बंजर पड़ी मेरी ज़िंदगी को
शोभन करे वो बरसात हो तुम।

मेरी कौफ सी काली रातो को
रोषण करे वो चांद हो तुम।

मेरा दिन बन जाता लबो पे आते
वो खुदा सुनहरा नाम हो तुम।

मेरी हर मुश्किल को चीर के आगे
वो धनुष से निकला बान हो तुम।

मेरी हर दर्द को दुर करे
मलहम सा लगा बाम हो तुम।

मुझे क्या जरूरत किसी ऑर सक्स की
जब हर लम्हों में साथ हो तुम।

मुझे तालाश नहीं कोई मंजिल की
जब रहो में मेरे साथ हो तुम।

जो तन को पल में सीतल कर दे
वो सुबह की पहली आजन हो तुम।

जो सह ले हर करवी बाते
वो मधुर मीठी मुस्कन हो तुम।

जो राहत से भितम गरमी से
वो पेरो की ठंडी छाओ हो तुम।

खोल दे आखे सही वक्त पे
वो शोर करती आलार्म हो तुम।

मुझे तालाश नहीं कोई मंजिल की
जब रहो में मेरे साथ हो तुम।।

Title: Jab sath ho tum || hindi poetry || love poetry