Skip to content

Woh raaho ka hamsafar || dost shayari

वो खुशियों की डगर, वो राहों में हमसफ़र,
वो साथी था जाना पहचाना,
दिल हैं उसकी यादों का दीवाना
वो साथ था जाना पहचाना

गम तो कई उसने भी देखे,
पर राहों में चले खुशियों को लेके
दिल चाहता हैं हर दम हम साथ चलें,
पर इस राह में कई काले बादल हैं घने
वो साथ था जाना पहचाना

मेरे आसुओं को था जिसने थामा,
मुझसे ज्यादा मुझको पहचाना
चारों तरफ था घनघोर अँधियारा,
बनकर आया था जीवन में उजियारा
वो साथ था जाना पहचाना

गिन-गिन कर तारे भी गिन जाऊ,
पर उसकी यादों को भुला ना पाऊ
कहता था अक्सर हर दिन हैं मस्ताना,
हर राह में खुशियों का तराना
वो साथ था जाना पहचाना

कहता हैं मुझे भूल जाना,
अपनी यादों में ना बसाना
देना चाहूँ हर ख़ुशी उसे,
इसीलिए, मिटाना चाहूँ दिल से
वो साथ था जाना पहचाना

                     तरुण चौधरी

Title: Woh raaho ka hamsafar || dost shayari

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


Nikalta chand || Shayari hindi

Nikalta chand sabko pasand aata hai
Doobta suraj kaun dekhna chahta hai
Toot’ta hua taara sabki dua isliye poori karta hai
Kyuki use tootne ka dard maalum hota hai…

Title: Nikalta chand || Shayari hindi


‎कलम‬ रखती हूँ.. || Hindi shayari Attitude

#‎अपने‬ हर 😲 ‪#‎लफ्ज़‬ में 😁 ‪#‎कहर‬ ✔ ‪#‎रखती हूँ, 📝 ‪#‎शायर‬ हूँ..
💔 ‪#‎बेवफा‬ का 🔪 ‪#‎क़त्ल‬ ‪#‎करने‬ के लिए 💝 ‪#‎जेब‬ में ✒ ‪#‎कलम‬ ✔ #रखती हूँ..

Title: ‎कलम‬ रखती हूँ.. || Hindi shayari Attitude