Jhukiyan nazra || ghaint Punjabi shayari

Eh sharmauna te eh bulliyan
Luk luk jo hass rhiyan ne🙈..!!
Koi taan vass gya dil ch tere
Jhukiyan nazra dass rahiyan me❤..!!

ਇਹ ਸ਼ਰਮਾਉਣਾ ਤੇ ਇਹ ਬੁੱਲ੍ਹੀਆਂ
ਲੁਕ ਲੁਕ ਜੋ ਹੱਸ ਰਹੀਆਂ ਨੇ🙈..!!
ਕੋਈ ਤਾਂ ਵੱਸ ਗਿਆ ਦਿਲ ‘ਚ ਤੇਰੇ
ਝੁਕੀਆਂ ਨਜ਼ਰਾਂ ਦੱਸ ਰਹੀਆਂ ਨੇ❤..!!

Title: Jhukiyan nazra || ghaint Punjabi shayari

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


apne aap to guwaach gaye || punjabi ghaint shayari

jaroorat si pyaar di
yaar guwaach ho gaye
labhde labhde dil da haani
asi apne aap ton guwaach gaye

ਜ਼ਰੂਰਤ ਸੀ ਪਿਆਰ ਦੀ
ਯਾਰ ਗੁਆਚ ਹੋ ਗਏ
ਲੱਭਦੇ ਲੱਭਦੇ ਦਿਲ ਦਾ ਹਾਣੀ
ਅਸੀਂ ਆਪਣੇ ਆਪ ਤੋਂ ਗੁਆਚ ਹੋ ਗਏ

—ਗੁਰੂ ਗਾਬਾ

Title: apne aap to guwaach gaye || punjabi ghaint shayari


अकेले चले जाते हो || Hindi Love poem – Shayari

अकेले चले जाते हो
बताते भी नहीं हो

बातें दिल में रखते हो
सुनाते भी नहीं हो

अपने राज छुपाए रखते हो
हमारे जान लेते हो

भीड़ में होकर भी
लापता से रहते हो

जो सवाल पूछो तो
नजरे चुराते हो

स्टेटस भी देखते हो
और देखकार मुस्कुरा भी देते

जाने किस रोज को रुके हो
फोन लगाते भी नहीं हो

हमारा दर्द भी समझते हो
फिर भी नसमझ सा बनते हो

कभी बहुत अपनापन जताते हो
और कभी पराए हो जाते हो

बाला की ख़ूबसूरत हो
पर इतराते नहीं हो

वैसे तो हर लिबास में हसीन हो
पर पीली कुर्ती में बिजलियाँ गिराते हो

मशहूर होकर भी गुमनाम सा रहते हो
ताजगी सुबह की हैं पर मस्तानी शाम सा रहते हो

बांधते हो और फिर खोल देते हो
इन जुल्फों से बड़ा खेलते हो

चेहरे की किताब के अक्षरों में उलझाते हो
अब बोल भी दो दिल की बात क्यों हमारे जख्मों को सहलाते हो

मैं तो सामने से नहीं बोल पाऊंगा
डरता हूं तुम्हारी ना हुई तो नहीं झेल पाऊंगा

अब तुम भी तो कभी कुछ इशारों को समझो
किसी चंचल नांव की तरह लहरें से उलझो

अब जब कभी तुमसे अगली मुलाकात हो
इधर-उधर की नहीं सीधे मुद्दे की बात हो

फिर जो भी फैसला आए हमें मंजुर हो
इकरार हो या ना हो पर अब इजहार तो जरूर हो।

इजहार तो जरूर हो।
इजहार तो जरूर हो।

Title: अकेले चले जाते हो || Hindi Love poem – Shayari