Maa || hindi poetry || sad but true

मैं ये सोचता हूं मेरा हाल क्या होगा
जब मेरी मां का इंतकाल होगा
अभी तक मैने कोई फर्ज पूरा नहीं किया
अभी तक कोई उसका कोई कर्ज पूरा नहीं किया
मेरे पास अभी वक्त ही नही है
पर वो मुझसे सख्त भी नही है
वो मंजर कैसे देखूंगा
वो बदनसीबी का साल होगा
मेरी मां का जब इंतकाल होगा
ऐ खुदा बस इतनी सी दुआ है मेरी
खुश रहे जब तक मां है मेरी
मैं उस जन्नत में खो जाना चाहता हूं
अपनी मां के आंचल में सो जाना चाहता हूं
ये दौलत नही मैं प्यार लेना चाहता हूं
उससे आशीष को उधार लेना चाहता हूं
मैं पैसे का क्या करूंगा ये माल क्या होगा
जब मेरी मां का इंतकाल होगा
ऐसे खामोश रहूंगा तो वक्त बीत जायेगा
वो बूढ़ी हो जायेगी बुढ़ापा जीत जायेगा
जब तक जिंदा है पूजा करना चाहता हूं
और कोई ना दूजा करना चाहता हूं
अभी भी वक्त है ले लो आशीष को
वरना जीवन भर तुमको मलाल होगा
मैं ये सोचता हूं मेरा हाल क्या होगा
मेरी मां का जब इंतकाल होगा

Title: Maa || hindi poetry || sad but true

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


Kali raat ajh || Dard shayari Punjabi

Kali raat aajh
na laattuaan di chamak na diviaan di loo
chhayiaa matam
jiven raunak da putar liya hove kise kho

Title: Kali raat ajh || Dard shayari Punjabi


Apne hathi apneya nu || kami || Punjabi shayari from heart

Je kise ik de jaan naal koi kami poori kar dinda
taa loki aa yaad da shabad banaunde hi kyu
je aapne hathi takdeer likhni hundi
taa asi apne hathi apneyaa nu gawaunde kyu

ਜੇ ਕਿਸੇ ਇਕ ਦੇ ਜਾਣ ਨਾਲ ਕੋਈ ਕਮੀ ਪੂਰੀ ਕਰ ਦਿੰਦਾ😒..
ਤਾਂ ਲੋਕੀ ਆ ਯਾਦ ਦਾ ਸ਼ਬਦ🙃ਬਣਾਉਦੇ ਹੀ ਕਿਉਂ..
ਜੇ ਆਪਣੇ ਹੱਥੀ ✍️ਤਕਦੀਰ ਲਿਖਣੀ ਹੁੰਦੀ ..
ਤਾਂ ਅਸੀ ਆਪਣੇ ਹੱਥੀ ਆਪਣਿਆ ਨੂੰ ਗਵਾਉਂਦੇ ਕਿਉ🥀..

Title: Apne hathi apneya nu || kami || Punjabi shayari from heart