Chandani Pandey

Jinhe mohabbat thi meri muskano se || sad shayari || shayari

जिन्हें मोहब्बत थी मेरी मुस्कानों से

वे आज मेरा जिस्म चाहने लगे हैं

जो चाहते थे मैं हमेशा मुस्कुराऊं

वे आज मेरी मुस्कान ही छीनने लगे हैं

Jab rulana hi tha || afsosh || Sad shayari || Heartbroken 💔

जब रुलाना ही था तो पहले ही रूला देते
इतना अफसोस ना होता और तुम्हें कबका हम भुला देते

Chandani Pandey