Skip to content

Jo log hame pagal kehte the || hindi love shayari

जो लोग हमे पागल कहते थे

उनका कहना अब ठीक लगता हैं

तेरे इश्क में रहेगें ता उम्र अब 

चाहे कितना भी अजीब लगता हैं

तेरे मर्जी हैं आ या नही

हम अब ऐसे ही जियेगे

हमे यही सलीका अब ठीक लगता हैं

Title: Jo log hame pagal kehte the || hindi love shayari

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


Jine dard dite tu || dard punjabi shayari to rabb

Jinne dard ditte tu rabba hisaab ni koi
Enne supne mere tode k hun mera khwaab ni koi
J jeen nu zindagi ditti hai ta hass k jee lende
eve har pal ravona kyu hai
tu jide naal milona hi ni
tu ode naal milona ee kyo hai

Title: Jine dard dite tu || dard punjabi shayari to rabb


Desh kavita || tiranga || republic day || तीन रंगों में रंगा हुआ || independence day

तीन रंगों में रंगा हुआ
सारे जग से न्यारा है,
सुनो तिरंगा हमें हमारा
प्राणों से भी प्यारा है।

बतलाता है रंग केसरी
वीरों ने बलिदान दिया
अंग्रेजों को मार भगाया
स्वतंत्र हिंदुस्तान किया,
इनकी भुजाओं के बल से
दुश्मन हमसे हारा है
सुनो तिरंगा हमें हमारा
प्राणों से भी प्यारा है।

श्वेत रंग संदेशा देता
अमन चैन फ़ैलाने का
प्रेम भावना बसे हृदय में
ऐसा वतन बनाने का
सुख-दुःख में एक दूजे का
बनना हमे सहारा है
सुनो तिरंगा हमें हमारा
प्राणों से भी प्यारा है।

हरा रंग हरियाली का जो
उन्नति पथ दिखलाता है
चीर धरा का सीना हलधर
सारी फसल उगाता है,
सारे जगत को देता अन्न
पशुओं को देता चारा है
सुनो तिरंगा हमें हमारा
प्राणों से भी प्यारा है।

बढ़ते रहें कहीं रुके नहीं
चक्र ज्ञान यह देता है
साथ समय के चले निरंतर
बनता वही प्रणेता है
बिना परिश्रम कहाँ किसीका
चमका कभी सितारा है
सुनो तिरंगा हमें हमारा
प्राणों से भी प्यारा है।

Title: Desh kavita || tiranga || republic day || तीन रंगों में रंगा हुआ || independence day