Skip to content

Khawab vich aa lain de || punjabi shayari

dil ne bune ne khaab jo raata tai ja lain de
tu zindagi ch auna naiyo sajjna khayaal vich aa lain de
naam tere te likhiyaa e geet jo duniyaa nu suna lain de
tu zindagi ch auna naiyo sajjna khyaala vich aa lain de

ਦਿਲ ਨੇ ਬੁਣੇ ਨੇ ਖ਼ਾਬ ਜੋ ਰਾਤਾਂ ਤਾਂਈ ਜਾ ਲੈਣ ਦੇ
ਤੂੰ ਜ਼ਿੰਦਗੀ ਚ ਆਉਣਾ ਨਈਓ ਸੱਜਣਾਂ ਖਿਆਲਾ ਵਿੱਚ ਆ ਲੈਣ ਦੇ
ਨਾਮ ਤੇਰੇ ਤੇ ਲਿਖਿਆ ਏ ਗੀਤ ਜੋ ਦੁਨੀਆਂ ਨੂੰ ਸਣਾ ਲੈਣ ਦੇ
ਤੂੰ ਜ਼ਿੰਦਗੀ ਚ ਆਉਣਾ ਨਈਓ ਸੱਜਣਾਂ ਖਿਆਲਾ ਵਿੱਚ ਆ ਲੈਣ ਦੇ

Title: Khawab vich aa lain de || punjabi shayari

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


Udne ki khwahish || Hindi shayari

Vo daur gaya janab
Jab hum titliyon ke piche Bhaga karte the
Upar udne ki khwahish hai
Sabhi pankh tarashne mein lage hain..✨

वो दौर गया जनाब,
जब हम तितलियों के पीछे भागा करते थे,
ऊपर उड़ने की ख़्वाहिश है
सभी पंख तराशने में लगे हैं… ✨

Title: Udne ki khwahish || Hindi shayari


Patriotic Poems || hindi desh prem poems

देशभक्ति कविताएं

1.
हिन्दुस्थान
मुल्क है अपना।
विश्व दरबार में
वो एक सपना।

आसमान में उड़ती
मन की आशा।
लहरों में मचलती
दिल की परिभाषा।

वायु में घूमती
आज़ादी की साँस।
मिटटी में रहती
बलिदान की अहसास।

मेरा देशवासियों
अपना भाई और बहन की समान।
एक आंख में हिन्दू,
दूसरे में मुस्लमान।

प्यार का बंधन
आंधी में भी न टूटा।
हम सब एक है,
फर्क झूठा।

2.
केदार देख के
लगता है
जीते रहु तूफान में
अंतिम समय तक।

गंगा देख के
लगता है
बहते रहु बंधन में
अंतिम साँस तक।

खेत की हरियाली देख के
लगता है
युवा रहु उम्र में
अंतिम यात्रा तक।

थार देख के
लगता है
उड़ते रहु आंधी में
अंतिम कड़ी तक।

हिन्द महासागर देख के
लगता है
घूमते रहु घूर्णी में
अंतिम सूर्यास्त तक।

भारत माता को देख के
लगता है
खिलते रहु उनकी गोद में
अंतिम संस्कार तक।

Title: Patriotic Poems || hindi desh prem poems