Skip to content

khamosh shayari

Khamoshi || Hindi shayari || two line Hindi shyari

Dastak aur aawaz to kaano ke liye hai
Jo rooh ko sunayi de use khamoshi kehte hain..💯

दस्तक और आवाज तो कानों के लिए है,,
जो रुह को सुनाई दे उसे खामोशी कहते हैं…💯

खामोशी✍️ || khamoshi Hindi shayari

मुझे भी तीर की तरह बहुत कुछ चुभता हैं 🥺
बस एक तस्वीर की तरह खामोश रहती हुं😶

खामोशियां मेरी मुझसे बातें करती है
हर दर्द खामोशियों का समझती रहती हूं

खामोशी की तह में छुपा कर उलझनें
मुश्किलें अपनी ऐसे आसान कर लेती हूं

पहले उलझती थी बात- बात पर
अब ख़ामोशी से हार मान लेती हूं😊

Khamosh nazro se || true line Hindi shayari

Apni izzat ke khatir to marte sabhi hain
Aabroo auron ka bhi dhako to ascha rahega
Zubaan se hi byan ho har baat, kisne kaha hai
Khamosh nazro ko bhi padho to ascha rahega💯

अपनी इज़्ज़त के ख़ातिर तो मरते सभी हैं,
आबरू औरों का भी ढको तो अच्छा रहेगा।
ज़ुबाँ से ही बयाँ हो हर बात, किसने कहा है,
ख़ामोश नज़रों को भी पढ़ो तो अच्छा रहेगा।💯

मुस्कुराहट || hindi shayari || beautiful true lines

ख़ामोश रहता हूं,
जीने की कोई आस नहीं मिलती...
पहले बात कुछ और थी,
अब वो सुकून की सांस नहीं मिलती...
मिलती थी पहले हर छोटी छोटी बातों पर,
ढेर सारी खुशियां...
अब इन अदाकार चेहरों में मुस्कुराहट भी,
कुछ ख़ास नहीं मिलती....

Khamosh rehne lage hain || sad hindi shayari

Hum aasmaan sar pe uthane wale
Khamosh rehne lage hai dekho 🙃

हम आसमान सर पे उठाने वाले
खामोश रहने लगे है देखो 🙃

इंतज़ार की आरज़ू || tanhaiyo se mohobbat || hindi shayari intezaar

Intezaar ki aarzu abh kho gai hai
khamoshiyo ki aadat ho gai hai
na shikwa raha na shikayat kisi se
agar hai to ek mohobat
jo in tanhaaiyo se ho gai hai

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है,
खामोशियो की आदत हो गयी है,
न शिकवा रहा न शिकायत किसी से,
अगर है तो एक मोहब्बत,
जो इन तन्हाइयों से हो गई है। 💘