romantic shayari

Ishq vs kiss || romantic hindi shayari

पीपल का पेड़ है
इश्क़ कैसे करू
आप इतनी दूर हो
किस कैसे करू

peepal ka pedh hai
ishq kaise karu
aap itni door ho
kis kaise karu

❤️   Nagpal ❤️

Pyar wo hai || Mohobat shayari punjabii

प्यार वो है जो जज्बात को समझे,
मोहब्बत वो है जो एहसास को समझे,
मिलते हैं जहाँ में बहुत अपना कहने वाले,
पर अपना वो है जो बिन कहे हर बात समझे। 💘

Pyar wo hai jo jazbat ko samjhe,
Mohabbat vo hai jo ehsaas ko samajhe,
Milate hain jahaan mein bahut apana kahane vaale,
Par apana vo hai jo bin kahe har baat samajhe

Romantic hindi shayari || Arey mujhe fursat kaha

Arey mujhe fursat kaha ki mausam suhana dekhu
arey teri yaad se nuklu tab to zamana dekhu

nazar lagaoge kya || Love 2 lines hindi shayari

kyoo baar baar taakte ho sheeshe ko,
nazar lagaoge kya meree iklautee muhabbat ko…

क्यू बार बार ताकते हो शीशे को,
नज़र लगाओगे क्या मेरी इकलौती मुहब्बत को…

jab se dekha hai || Hindi romantic shayari

jab se dekha hai teree aankho me jhaank kar,
koee bhee aaeena achchha nahee lagata,
teree mohabbat me aise hue hai deevaane,
tumhe koee aur dekhe to achchha nahee lagata..

जब से देखा है तेरी आँखो मे झाँक कर,
कोई भी आईना अच्छा नही लगता,
तेरी मोहब्बत मे ऐसे हुए है दीवाने,
तुम्हे कोई और देखे तो अच्छा नही लगता..

Falsale zindagi ke || Romantic Hindi Shayari

Hello reader, Today I am going to share you the best collection of Romantic Hindi Shayari which you will definitely going to love and share with your boyfriend, girlfriend or anyone who you love the most.

फलसफे ज़िन्दगी के है पेचीदा इतने की
चलने से पहले मेरी राहें बिखर जाती है
हज़ार ज़ख्मो के बाद अब ये आलम है
इश्क़ के नाम से ही मेरी रूह सिहर जाती है!

 


वो बेहिसाब जो पी के कल शराब आया
अगरचे मस्त था मैं पर मुझे हिजाब आया
इधर ख्याल मेरे दिल में ज़ुल्फ़ का गुज़रा
उधर वो खता हुआ दिल में पेच-औ-तब आया
ख्याल किस का समय है दीदा-औ-दिल में
न दिल को चैन मुझे और न शब् को ख्वाब आया!

 


खो गयी शाम किसी के इंतज़ार में,
ढल गयी रात किसी के इंतज़ार में,
फिर हुआ सवेरा किसी के इंतज़ार में,
इंतज़ार की आदत हो गयी किसी के इंतज़ार में..

कुछ मतलब के लिए ढूँढ़ते हे मुजको
बिन मतलब जो आए तो क्या बात हे
कतल कर के तो सब ले जाएँगे दिल मेरा
कोई बातों से ले जाये तो क्या बात हे!
 
फलसफे ज़िन्दगी के है पेचीदा इतने की
चलने से पहले मेरी राहें बिखर जाती है
हज़ार ज़ख्मो के बाद अब ये आलम है
इश्क़ के नाम से ही मेरी रूह सिहर जाती है!

image credit: lovesadshayar.in



कैसी दिखती होगी || Love hindi shayari

ek vaqt gujara use dekhe hue
jaane ab vo kaisee dikhatee hogee

kya ab bhee vaisee dikhatee hogee
haan haan kya pahale jaisee dikhatee hogee

jis aaine ko dekh vo sanvaaratee hogee
kya khoob usakee bhee kismat hogee

एक वक़्त गुजरा उसे देखे हुए
जाने अब वो कैसी दिखती होगी

क्या अब भी वैसी दिखती होगी
हाँ हाँ क्या पहले जैसी दिखती होगी

जिस आइने को देख वो संवारती होगी
क्या खूब उसकी भी किस्मत होगी

अकेले चले जाते हो || Hindi Love poem – Shayari

अकेले चले जाते हो
बताते भी नहीं हो

बातें दिल में रखते हो
सुनाते भी नहीं हो

अपने राज छुपाए रखते हो
हमारे जान लेते हो

भीड़ में होकर भी
लापता से रहते हो

जो सवाल पूछो तो
नजरे चुराते हो

स्टेटस भी देखते हो
और देखकार मुस्कुरा भी देते

जाने किस रोज को रुके हो
फोन लगाते भी नहीं हो

हमारा दर्द भी समझते हो
फिर भी नसमझ सा बनते हो

कभी बहुत अपनापन जताते हो
और कभी पराए हो जाते हो

बाला की ख़ूबसूरत हो
पर इतराते नहीं हो

वैसे तो हर लिबास में हसीन हो
पर पीली कुर्ती में बिजलियाँ गिराते हो

मशहूर होकर भी गुमनाम सा रहते हो
ताजगी सुबह की हैं पर मस्तानी शाम सा रहते हो

बांधते हो और फिर खोल देते हो
इन जुल्फों से बड़ा खेलते हो

चेहरे की किताब के अक्षरों में उलझाते हो
अब बोल भी दो दिल की बात क्यों हमारे जख्मों को सहलाते हो

मैं तो सामने से नहीं बोल पाऊंगा
डरता हूं तुम्हारी ना हुई तो नहीं झेल पाऊंगा

अब तुम भी तो कभी कुछ इशारों को समझो
किसी चंचल नांव की तरह लहरें से उलझो

अब जब कभी तुमसे अगली मुलाकात हो
इधर-उधर की नहीं सीधे मुद्दे की बात हो

फिर जो भी फैसला आए हमें मंजुर हो
इकरार हो या ना हो पर अब इजहार तो जरूर हो।

इजहार तो जरूर हो।
इजहार तो जरूर हो।