Skip to content

ईद के ख़ास मौक़े पर कोई ख़ुदाई से मिले || Pure love hindi shayari

ईद के ख़ास मौक़े पर कोई ख़ुदाई से मिले,
दुश्मन – दुश्मन से मिले भाई – भाई से मिले

दुनियां वालों तुम्हें क्यों जलन होती है अग़र,
मुस्लिम सीख़ से मिले या सीख़ ईसाई से मिले

उस बंटवारे को अल्लाह भी क़बूल नहीं कर्ता,
जो हिस्सा इंसानों को ख़ून की लड़ाई से मिले

ग़ले ज़रूर मिलो मग़र ग़ला काटने के लिए नहीं,
क़ल को क्या पता किसका वक़्त जा बुराई से मिले

ये शायर तेरा आशिक़ है एक ही बात कहता है
हमसे जब भी जो भी मिले दिल की गहराई से मिले

Title: ईद के ख़ास मौक़े पर कोई ख़ुदाई से मिले || Pure love hindi shayari

Best Punjabi - Hindi Love Poems, Sad Poems, Shayari and English Status


Lonely Punjabi status || ik supnaa aan

ik supnaa aan khlo jaanda
jo naa parre tera,
ik aadhoora supna,
jo hona ni kade mera, aan khlo janda

ਇਕ ਸੁਪਨਾ ਆਣ ਖਲੋ ਜਾਂਦਾ
ਜੋ ਨਾ ਪੜ੍ਹੇ ਤੇਰਾ
ਇਕ ਅਧੂਰਾ ਸਪਨਾ
ਜੋ ਹੋਣਾ ਨੀ ਕਦੇ ਮੇਰਾ, ਆਣ ਖਲੋ ਜਾਂਦਾ 😥😥

Title: Lonely Punjabi status || ik supnaa aan


Majbori or Garoor || punjabi shayari

Ik ik karke har thaan ton
Remove kar rhe ne saanu
Sajan saade,
Sayad majbori hove gi koi ohna di
Jaan far kise gal da garoor kar rhe ne.
Sajan saade…

ਤੇਰਾ ਰੋਹਿਤ✍🏻

Title: Majbori or Garoor || punjabi shayari