Skip to content

Zaroorat shayari

Tu mere liye zaroori ||loVe shayari

Tu mere liye kitna zaroori hai, 
Ye tera jaanna usse bhi zyada zaroori hai…😊

तू मेरे लिए कितना जरूरी है,
ये तेरा जानना उससे भी ज्यादा जरूरी है…😊

Dil se khwahish poori hai || love hindi shayari

तुझे अपना बनाने की तो मेरी, दिल से ख्वाहिश पूरी है..
पर तू मुझे चाहे उसके लिए तेरे, ख्वाबों में आना जरुरी है..
ख़्वाबों में आने के लिए तेरा, दिल धड़काना जरुरी है..
तुझे अपना बनाने से पहले, तेरा बन जाना जरुरी है..
हाथ लगाने से पहले, तेरे लबों पर मेरा नाम आना जरुरी है..
तुझे साथी बनाने से पहले, तेरा साथ निभाना जरुरी है..
तू दीवानी हो मेरी, और मेरा, तेरी अदाओं पे मर जाना जरुरी है..
तेरे किसी और को चाहने से पहले, तेरा मुझे चाहना जरुरी है..
तुझे अपना बनाने की तो मेरी, दिल से ख्वाहिश पूरी है….

Jaroori hai || Hindi shayari

Haan hr baar byan nahi hoti chizein,
Kbhi kbhi dil mei chupakr rkhna b jruri hai..
Haan koshish ki jaye to ho skta hai,
Kuch apno se fasla bnakr rkhna bhi jruri hai..
Zindgi bhr ka sath dena, Vada krte hain, kehna jruri nahi,
Par bin kahe aakr sath nibhana to ho skta hai..
Haan shayad tumhe namnjoor hi sahi,
Par kbhi kbhi apna kehne wale ko gale lgana bhi jruri hai..
Tmaam zindgiyan yhan, Chan Minto m khtm ho jati hai,
Maut to aygi hi ,Par maut tk ka safar agr teh kr jao,
To ye zindgi bitana ik hasrat sa hai..
Haan baatein meri bhle achi na lge,
Sach to hai yahi……is duniya mei,
Jise chaho usse rulana bhi jruri hai..
Beintehaan na sahi bhale thoda hi hai, Aitbaar to kro kisi par ,Haan thoda dr lgega ,
Par kisi gair ko apna kissa sunana bhi jruri hai..
Jruri hai ..

Zaroori bhi hai || hindi shayari

Kahani dil ki hai,
Lekin batana zroori bhi hai
Dil mein gumnam c khwahishein bhi hai
Jise poora karna zroori bhi hai
Kuch samaj nahi aa Raha hai,
Rasta kidhar hai..Jana idhar bhi hai jana udhar bhi hai
Kisse kismat ke hain
Rishte pyar ke hain
Par nibhana zaroori bhi hai
Vo shakhs apna bhi hai or praya bhi
Use aajmana zaroori bhi hai
Is dard e dil ko samjhana zaroori bhi hai
Kahani dil ki hai,
Lekin batana zroori bhi hai……

कहानी दिल की हैं;
लेकिन बताना ज़रूरी भी हैं!
दिल में गुमनाम सी ख़्वाहिशें भी हैं;
जिसे पूरा करना ज़रूरी भी हैं!
कुछ समझ नहीं आ रहा हैं;
रास्ता किधर हैं; जाना इधर भी हैं और जाना उधर भी हैं!
किससे क़िस्मत के हैं;
रिश्ते प्यार के हैं;
पर निभाना ज़रूरी भी हैं!
वो शख़्स अपना भी हैं और पराया भी;
उसे आज़माना ज़रूरी भी हैं!
इस दर्द ए दिल को समझाना ज़रूरी भी हैं!
कहानी दिल की हैं;
लेकिन बताना ज़रूरी भी हैं…….