Skip to content

Deedar shayari

Woh khushnaseeb kon hai || hindi shayar

वो खुशनसीब कौन है,
जिसका तुमने दीदार किया,
मैं तो मिट्टी हो चला हूं इस मिट्टी में,
तुम्हारे साएं का पीछा करते करते...

Woh khushnaseeb kon hai
jiska tumne deedar kiya

me to mitti ho chala hu is mitti me
tumahre saaye ka peesha karte karte

Sambhalta nahi hai dil || dedaar shayari

संभालता नहीं है दिल के,
तुम इंतज़ार बहुत बहुत करवाते हो,
बस चंद धड़कने संभाल रखी है,
बस तेरे इक दीदार की खातिर...

Ankhon mein kho jaye || love Hindi shayari

Waise intezar humein bhi hai us pal ka 🙃
Jab khuda ka deedar ho jaye 😍
Hum usmein aur vo humari ankhon mein kho jaye ❤️

वैसे इंतज़ार हमें भी है उस पल का,🙃
जब खु़दा का दीदार हो जाये,😍
हम उसमे और वो हमारी आँखों में खो जाये ❤️

Tumhara deedar || love hindi shayari

Jo shakhs tere tasawur se hi mehak jaye😍
Socho tumhare deedar mein uska kya hoga🙈

जो शख्स तेरे तसव्वुर से हीे महक जाये😍
सोचो तुम्हारे दीदार में उसका क्या होगा🙈

Deedar hua || hindi shayari || sad in love

Deedar hua uss samay,
To Pyar hua uss samay, 
Tumhare saath jeene ki koshish jo ki, 
To Inqaar hua uss samay,
Aur
Tumhen paane ki koshish jo ki,
To Haar gaya uss samay💔

दीदार हुआ उस समय
तो प्यार हुआ उस समय
तुम्हारे साथ जीने की कोशिश जो की
तो इनकार हुआ उस समय
और
तुम्हे पाने की कोशिश जो की
तो हार गया उस समय💔