Skip to content

Mehfil shayari

Yeh zakham se bharaa hua dil || sad dard shayari hindi

यह जख्म से भरा हुआ दिल है जनाब

इसे महेफिल से ज्यादा तन्हाई रास आती है

Yeh zakhm se bhara hua Dil hai Janaab

Isse mehfil se zyada Tanhaii raas aati hai

Bewafa shayari|| sad Hindi shayari

Yaad tere kisi khayal ko karne se, dar lagta hai ab mujhe..
Ab nahi yaad karna mein chahta, bura to lagega ye tujhe..
Ye aag teri yaadon ki ab, jala rahi hai bas mujhe..
Bewafa hai tu mehfil mein keh doon, aag dil ki fir bhi na bujhe….💔

याद तेरे किसी ख्याल को करने से, डर लगता है अब मुझे..
अब नहीं याद करना मैं चाहता, बुरा तो लगेगा ये तुझे..
ये आग तेरी यादों की अब, जला रही है बस मुझे..
बेवफा है तू मैहफिल में कह दूं, आग दिल की फिर भी ना बुझे….💔