Skip to content

Sad shayari

Yaado ka saya || two line shayari || sad but true shayari

Aaj ek bar fir man me svaal aaya hai
kisi ke hisse me tum or mere hisse me bas tumhari yaado ka dhundla saya hai💫 

आज एक बार फिर मन में सवाल आया है
किसी के हिस्से में तुम और मेरे हिस्से में बस तुम्हारी यादों का धुंधला साया है 💫

Naa insaafi || sad but true || hindi shayari

Kaisi nainsafi hai ye
Vo galat hokar bhi sahi hum sahi hokar bhi nhi💯

कैसी नाइंसाफी है ये
वो गलत होकर भी सही हम सही होकर भी नही💯

Bekhabar || two line shayari || sad shayari

Bekhabar hokar jee rhe the jiske sath
Aaj khabar uske jaane ki aayi hai 

बेखबर होकर जी रहे थे जिसके साथ 💕
आज खबर उसके 🫠 जाने की आई है 

Beasar sabh dua shayari

बेअसर हो रही सब दुआए मेरी 

जिंदगी जाने क्या सिलसिला दिखा रही है ,

जिसके लिए मांगी खुदा से खुशिया 

वो ही धीरे-धीरे दिल को जला रही है।

इंतज़ार किया घंटो उसका 

क्या मालूम था वो किसी ओर से मिलके आ रही है ,

मिलने के बहाने ढूंढती थी जो बार बार 

यार वो लड्की आँख मिलने से घबरा रहि रही  है । 

 

Mohabbat nibhaye ja rahe hain || two line hindi shayari

Apni mohabbat ko kuch is tarah nibhaye ja rahe hain
vo galatiyan karte hain
hum unki galtiyon ko bhulaye ja rhe hain 🙌🥀

अपनी मोहब्बत को कुछ इस तरह निभाए जा रहे हैं
वो गलतियां करते हैं
हम उनकी गलतियों को भुलाए जा रहे हैं 🙌🥀

Broken heart💔 || sad shayari on mohobbat

🥺💔😭💘😢 
 मिल भी जाते हैं तो कतरा के निकल जाते हैं, 
 हैं मौसम की तरह लोग… बदल जाते हैं, 
 हम अभी तक हैं गिरफ्तार-ए-मोहब्बत यारों, 
 ठोकरें खा के सुना था कि संभल जाते हैं। 
 🥺💔😭💘😢

Tujhe bhula nhi sakte || Hindi shayari || sad but true

Zakham kitne gehre hai dikha nhi skte
Tujhe dekh sakte hai tere pass a nhi skte 🙃
Bda dukh hai tujhse kabhi ishq tha humein
Ab masla ye hai tujhe bhula nhi sakte 💔

जख्म कितने गहरे है दिखा नही सकते
तुझे देख सकते है तेरे पास आ नही सकते 🙃
बड़ा दुख है तुझेसे कभी इश्क था हमें
अब मसला ये है तुझे भुला नही सकते 💔

Ishq || true lines || love Hindi shayari

ये और बात है, के उसने भुला दिया हमें
हमसे उसे आज तक, भुलाया नहीं गया।।

आंसू ना बहाए उसने, तो ये जान लीजिए
इश्क में उसे कभी, आजमाया नहीं गया।।

चाहते तो हम भी, मिल जाता बोहोत कुछ
हमसे ही ये सर कभी झुकाया नहीं गया।।

इश्क के सफ़र में, बोहोत दर्द है, थकन है
जाने क्यूं हमें ये , बताया नहीं गया।।